jajbaat


कभी हम टूटे तो कभी ख्वाब टूटे,
न जाने कितने टुकड़े में अरमान टूटे !!
हर टुकड़ा  आइना है ज़िन्दगी का "रस्क" ,
हर आईने के साथ लाखों जज़्बात टूटे !!

Comments

Popular posts from this blog

Acha nahi lagta

Tutata Sitara