Skip to main content

Posts

Showing posts from August, 2016

Feelings

चले जो दो कदम साथ, तो उनके साथ से प्यार हो जाये !
थामे जो प्यार से मेरा हाथ , तो आपने ही हाथ से प्यार हो जाये !
जिस रात आये ख़्वाबों में वो , उस सुहानी रात से प्यार हो जाये !
जिस बात में आये ज़िक्र उनका, तो उसी बात से प्यार हो जाये !
जब पुकारे प्यार से मेरा नाम लेकर, "रस्क" तो अपने ही नाम से प्यार हो जाये !
होता है अगर इतना खुबसुरत यह प्यार अगर  तो ऐ  खुदा उन्हें भी मेरे प्यार से प्यार हो जाये !!

Log khuda ho jaye

इस से पहले की बेवफा हो जाये, 
क्यों ना ये दोस्त हम जुदा हो जाये ?

तू भी हीरे से बन गया पत्थर ,
हम भी कल जाने क्या से क्या हो जाये!

हम भी मजबूरी का अपनी कुछ बयान करे,
फिर कही और उलझ जाये !

अब के अगर तू मिले तो हम तुझसे,
ऐसे लिपटे तेरी मजार हो जाये !

बंदगी हम ने छोड़ दी है "रस्क"
क्या करे जब लोग खुदा हो जाये !!

Awara Lafaz

आवारा  लफ़्ज़ों को पनाह देकर , उन लफ़्ज़ों की शायरी बना देंगे,
खूबसूरत ख्याल को क़ैद कर, उनके गीत बना देंगे ,
शायरी को ग़ज़ल बना कर फरमाएंगे, और उनको मोहब्बत में बदल देंगे ,
"रस्क" जन्नत के खवाब भी आप भूल जायेंगे, जब इश्क़ को खुद एक इब्बादत बना देंगे !!

Sorry

कुछ हँस के  बोल दिया करो, कुछ हँस के  टाल दिया करो, यूँ तो बहुत  परेशानियां है  तुमको भी  मुझको भी, मगर कुछ फैंसले  वक्त पे डाल दिया करो, न जाने कल कोई  हंसाने वाला मिले न मिले.. इसलिये आज ही हसरत निकाल लिया करो !! हमेशा समझौता  करना सीखिए.. क्योंकि थोड़ा सा झुक जाना   किसी रिश्ते को हमेशा के लिए  तोड़ देने से बहुत बेहतर है ।।। किसी के साथ हँसते-हँसते  उतने ही हक से  रूठना भी आना चाहिए ! अपनो की आँख का  पानी धीरे से पोंछना आना चाहिए !   "रस्क " रिश्तेदारी और दोस्ती में कैसा मान अपमान ? बस अपनों के  दिल मे रहना आना चाहिए...!

ख़लिश

ये कैसी ख़लिश है तेरे इंतज़ार की,
रहा भी नहीं जाता, सहा भी नहीं जाता !
क्या कहे के कुछ कहा नहीं जाता , दर्द मीठा है पर सहा नहीं जाता !!
मोहब्बत हो गई है इस कदर आपसे , "रस्क" बिना याद किये रहा नहीं जाता !!

Tanhai

जमाने से नही तो तनहाई से डरता हुँ,

प्यार से नही तो रुसवाई से डरता हुँ,

मिलने की उमंग बहुत होती है,

लेकिन मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरता हुँ..

Teri ada samjhu

तेरे होने पर भी खुद को तनहा समझूँ , में बेवफा हूँ  के तुजे बेवफा समझूँ 
तेरी बेरुखी से वक़्त तो गुज़र गया हें मेरा  यह खुद्दारी हें तेरी या तेरी अदा समझूँ. 
तेरे बाद क्या हाल हुआ हें मेरा  ये तेरी इनायत हें या अदासमझूँ. 
"रस्क "ज़ख़्म देती हो और मरहम भी लगाती हो  यह तेरी आदत हें या तेरी अदा समझूँ

Tutata Sitara

हमारी किस्मत तो आसमान पे चमकते सितारे की तरह है, लोग अपनी तमन्ना के लिए हमारे टूटने का इंतज़ार करते है !!

Aansu

दिल में हर राज़ दबा के रखते है , होठों पे मुस्कान सज्जा के रखते हैं  ये दुनिया सिर्फ ख़ुशी में साथ देती है  "रस्क" इसलिए हम अपने आंसू छुपा के रखते है 

wahi tak

सफर वही  तक है, जहाँ तक तुम हो !
नज़र वही तक है , जहाँ तक तुम हो !
 हज़ारो फूल दिखे है, इस गुलशन में , मगर 
"रस्क" खुश्बू वही तक है, जहा तक तुम हो !!

Teri Kami

जब दिल दर्द के जंगल, में भटकता हैं ! तब तेरी कमी बहुत  महसूस होती है ! जब दर्द नस नस से  होकर गुजरता है ! तब तेरी यादो की , छायाओं में अक्सर  ज़िन्दगी सोती है ! जब तुझे पाने को  बहुत बेचैन होता  है, ये दिल  तब मत पूछ "रस्क" ये आँख  किस कदर रोती  है !!